हर समय सिरदर्द और बाल तेजी से गिर रहे हैं। क्या प्रोटीन की कमी है? यहाँ प्रोटीन की कमी के 7 सामान्य लक्षण हैं जिनके बारे में सभी को पता होना चाहिए

सिरदर्द

आपने डॉक्टरों को कहते सुना होगा कि शरीर में प्रोटीन की कमी होती है। अंडे, मछली और फाइबर वाले खाद्य पदार्थ खाएं। लेकिन प्रोटीन की कमी के कारणों या लक्षणों के बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। ये सभी लक्षण बहुत सामान्य हैं और हम उन्हें गंभीरता से नहीं लेते हैं, यही कारण है कि हम अपने युवा और बुढ़ापे में बहुत पीड़ित हैं। अगर आपको भी ये समस्याएं हैं, तो जान लें कि आप प्रोटीन की कमी से पीड़ित नहीं हैं।

लक्षण:


• बालों का
झड़ना: बालों के झड़ने का सबसे महत्वपूर्ण कारण प्रोटीन की कमी है क्योंकि हमारे बालों के रोम पूरी तरह से प्रोटीन और रक्त परिसंचरण पर निर्भर हैं। प्रोटीन की वैकल्पिक मात्रा बालों को झड़ने या कमजोर होने का कारण बन सकती है यदि शरीर का वजन कम होना शुरू हो जाता है, यही कारण है कि बालों में अंडे की जर्दी डालने की सिफारिश की जाती है क्योंकि वे दोनों प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ हैं।

* अनिद्रा:
नींद की कमी और नींद की समस्या भी प्रोटीन की कमी का कारण है। ऐसा इसलिए है क्योंकि मस्तिष्क को नींद लाने के लिए काम करने वाले तंत्रिकाओं और रासायनिक यौगिकों में प्रोटीन आहार होता है और जब यह भोजन पूर्ण रूप से मौजूद नहीं होता है, तो शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाती है।

* सिरदर्द:
लगातार सिरदर्द भी प्रोटीन की कमी है क्योंकि यह शरीर में कम रक्त शर्करा का उत्पादन करता है, जिससे अनिद्रा और सिरदर्द बढ़ जाता है।

* वजन कम होना:
कभी-कभी लोग तेजी से वजन कम कर रहे हैं और उन्हें लगता है कि उनके पास अच्छा आहार है लेकिन यह वास्तव में एक बड़ी समस्या है। हमारी मांसपेशियां प्रोटीन प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करती हैं लेकिन इसकी वजह से वे कमजोर और बिगड़ने लगती हैं जिससे वजन कम होता है जो कि प्रोटीन की कमी का मुख्य कारण है।

• आलस्य:
शरीर में प्रोटीन की कमी से सुस्ती और थकान होती है। इसलिए, जब शरीर का प्रवाह शुरू होता है तो दही का उपयोग सबसे उपयोगी माना जाता है।

• घाव
भरने : क्योंकि प्रोटीन अमीनो एसिड को नियंत्रित करता है और यदि प्रोटीन नहीं है, तो अमीनो एसिड के नकारात्मक प्रभाव भी होने लगते हैं, जिसके कारण घाव भरने में समय लगता है और गहरे घाव कभी-कभी ठीक नहीं होते हैं।

*त्वचा का पीलापन / काला पड़ना:
 
प्रोटीन त्वचा की सुंदरता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। रंग में वृद्धि या कमी प्रोटीन के कारण भी होती है। और इसकी कमी से त्वचा काली या पीली हो जाती है।

क्या प्रोटीन की कमी का कारण बनता है?
प्रोटीन की कमी भी खराब आहार और धीमी जीवन शैली के कारण होती है। लेकिन सबसे महत्वपूर्ण कारण यह है कि दैनिक आहार में दूध और अंडे का उपयोग नहीं करना प्रोटीन की कमी का एक सामान्य कारण है।

0 टिप्पणियां